ताज़ा खबरें

PM Modi Inaugurated : पीएम मोदी ने सहकारी क्षेत्र में विश्व की सबसे बड़ी अन्न भंडारण योजना का किया उद्घाटन

पीएम नरेंद्र मोदी ने आज सहकारी क्षेत्र में दुनिया की सबसे बड़ी अनाज भंडारण की पायलट परियोजना का उद्घाटन किया। इसे 11 राज्यों के 11 प्राथमिक कृषि ऋण समितियों में संचालित किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान सहकारी क्षेत्र की अन्य कई योजनाओं का भी उद्घाटन एवं शिलान्यास किया। 11 राज्यों के 11 पैक्स में विश्व की सबसे बड़ी अन्न भंडारण योजना के तहत गोदाम का उद्घाटन एवं 500 पैक्स में गोदाम का शिलान्यास किया गया है।

इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा, ‘आज भारत मंडपम ‘विकसित भारत’ की अमृत यात्रा में एक और बड़ी उपलब्धि का साक्षी बन रहा है। सहकार से समृद्धि का जो संकल्प देश ने लिया है, उसे साकार करने की दिशा में आज हम और आगे बढ़ रहे हैं।’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा की खेती और किसान की नींव को मजबूत करने में सहकारिता की शक्ति की बहुत बड़ी भूमिका है, इस सोच के साथ हमने अलग सहकारिता मंत्रालय का गठन किया है। आज हमने अपने किसानों के लिए दुनिया की सबसे बड़ी भंडारण योजना शुरू की है।

See also  PM Modi UAE Visit : UAE दौरे पर आज रवाना होंगे PM मोदी, हिंदू मंदिर का भी करेंगे उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा की खेती और किसानों की नींव को मजबूत करने में सहकारिता की शक्ति की बहुत बड़ी भूमिका है, इस सोच के साथ हमने अलग सहकारिता मंत्रालय का गठन किया है। आज हमने अपने किसानों के लिए दुनिया की सबसे बड़ी अन्न भंडारण योजना शुरू की है। सहकारिता केवल व्यवस्था नहीं है, सहकारिता एक भावना है। सहकारिता की यह भावना कई बार व्यवसायों और संसाधनों की सीमाओं से परे आश्चर्यजनक परिणाम देती है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार जीवन यापन से जुड़ी एक सामान्य व्यवस्था को बड़ी औद्योगिक क्षमता में बदल सकता है यह देश की अर्थव्यवस्था खास कर ग्रामीण और कृषि से जुड़ी अर्थव्यवस्था के कायाकल्प का एक प्रमाणिक तरीका है आज देश में भी डायरी और कृषि से सहकार से किस जुड़े हैं उनमें करोड़ की संख्या में महिलाएं ही हैं महिलाओं के इसी समर्थ को देखते हुए सरकार ने भी सरकार से जुड़ी नीतियों में उन्हें प्राथमिकता दी है।

See also  Ramayana Episode : केवल एक ही नहीं और भी कई सारे वर्जन बन चुके हैं रामायण के, एक को डायरेक्ट किया जापानी डायरेक्टर ने तो दूसरे में थे जूनियर एनटीआर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विकसित भारत के लिए भारत की कृषि व्यवस्थाओं का आधुनिकरण योजना ही जरूरी है। हम कृषि क्षेत्र में नई व्यवस्थाएं बनाने के साथ ही पैक्स जैसे सहकारी संस्थाओं को नई भूमिकाओं के लिए तैयार कर रहे हैं। हमारे देश 10 हजार किसान उत्पादक संगठन स्थापित करने का लक्ष्य था। और मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि आज 8 हजार किसान उत्पादक संगठन पहले ही स्थापित हो चुके हैं। आज हमारे एफपीओ की सफलता की कहानियों की चर्चा देश की सीमाओं से परे भी हो रही है।

वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि देश आजाद हुआ तब से देश भर के सहकारिता क्षेत्र के कार्यकर्ता अनेक पार्टियों की सरकारों से मांग करते रहे कि सहकारिता के लिए एक अलग मंत्रालय की स्थापना हो। क्योंकि सहकारिता क्षेत्र को वक्त के साथ-साथ बदलना जरूरी है। इसे प्रांसगिक भी रखना होगा, इसे आधुनिक भी बनाना होगा और इसमें पारदर्शिता भी लानी होगी। लेकिन इस मांग को पूरा नहीं किया गया, जब नरेंद्र मोदी जी पीएम बने तब 70 साल पुरानी मांग को पूरा किया गया और सहकारिता मंत्रालय कि स्थापना हुई।