ताज़ा खबरेंराम मंदिर

Ayodhya Ram Mandir : अयोध्या राम मंदिर में विराजमान रामलला अब करेंगे अराम, बन रही नई व्यवस्था

अयोध्या राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा होने के बाद से ही राम भक्तों के जन सैलाब को देखते हुए रामलला के पट दर्शन के लिए सुबह 7:00 बजे से रात के 10:00 बजे तक अनवरत खोल दिए गए हैं। भगवान राम लला 5 साल के बालक के रूप में राम जन्मभूमि परिसर में स्थापित है। उनको भी अब 15 घंटे विश्राम नहीं मिल पा रहा है।

Ayodhya Ram Mandir
अयोध्या राम मंदिर में विराजमान रामलला अब करेंगे अराम, बन रही नई व्यवस्था

राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा से पहले जब प्रभु श्री राम अस्थाई मंदिर में थे तो दोपहर 12:00 बजे से लेकर 2:00 बजे तक प्रभु राम विश्राम करते थे। लेकिन जब से वह भव्य महल में स्थापित हुए हैं तब से प्रभु श्री राम का पट 15 मिनट के लिए बंद रहता है। प्रभु श्री राम के विश्राम को लेकर अब नई व्यवस्था राम मंदिर ट्रस्ट तैयार कर रहा है।

See also  Ramanand Sagar Ramayan Actor : वह मुस्लिम एक्टर जिसने रामानंद सागर की रामायण और श्रीकृष्णा में भी निभाई दर्जनों किरदार, अब ऐसा है हाल…

वहीं राम मंदिर के मुख्य पुजारी अचार्य की माने तो श्रद्धालु और भगवान का संबंध बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। उन्हें रोका नहीं जा सकता, लेकिन शास्त्रों के अनुसार प्रभु श्री राम को विश्राम की भी जरूरत है। राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी कहते हैं कि ट्रस्ट इस पर विचार कर रहा है। आने वाले दिनों में दर्शन के समय में बदलाव भी किया जाएगा।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कैंप कार्यालय प्रभारी प्रकाश गुप्ता ने कहा कि प्रभु श्री राम जब से अपने भव्य महल में स्थापित हुए हैं तब से राम भक्त 24 घंटे में 15 घंटे तक दर्शन और पूजा कर रहे हैं। 15 मिनट के लिए आरती के समय पट बंद रहता है।

See also  5 लाख बार 'सीताराम' लिखने पर ही इस बैंक में खुलता है अकाउंट

लेकिन राम मंदिर ट्रस्ट अब इस पर विचार कर रहा है कि प्रभु श्री राम को विश्राम देने के लिए कुछ समय निकाला जाए। यानि कि दोपहर 12:00 बजे से लेकर 2:00 बजे तक प्रभु श्री राम आराम करते थे, वैसा ही कुछ प्लान फिर से बनाया जा रहा है। प्रकाश गुप्ता ने कहा कि बालाजी मंदिर की तर्ज पर आने वाले दिनों में राम मंदिर में भी व्यवस्था की जाएगी। आने वाले दिनों में यहां पर एक लाख यात्रियों को रुकने और ठहरने की व्यवस्था भी कि जाएगी।