मनोरंजन

इस विलेन के सामने गब्बर की नहीं बिसात, मोगैंबो भी भरेगा पानी, जय-वीरू नहीं रीत ओबेरॉय ने इसके होश लगाए थे ठिकाने

शोले का गब्बर तो आप सभी को याद होगा वही मिस्टर इंडिया में मोगैंबो का रोल करने वाले अमरीश पुरी ने भी सबके दिल में खौफ पैदा कर दिया था लेकिन बॉलीवुड का एक ऐसा विलन भी है जिसने साड़ी पहनकर खूंखार आंखों से चीख निकली थी जिसे देखकर हर कोई हैरान रह गया था।

हिंदी सिनेमा में एक से बढ़कर एक विलेन हुए हैं। कभी शान में शाकाल बनकर बाल्ड लुक में विलेन ने डराया है तो कभी मिस्टर इंडिया में मोगैम्बो बनकर रोंगटे खड़े कर दिए हैं और कभी शोले के गब्बर के खूंखार अंदाज ने खून जमा दिया है. लेकिन एक सा भी विलेन रहा है। इस विलेन के सामने बॉलीवुड के बड़े से बड़े खतरनाक विलेन भी पानी भरते हुए नजर आ रहे हैं। एक और इंटरेस्टिंग बात यह है कि जो इस विलन से जुड़ा हुआ है वैसे तो हर खूंखार विलेन का अंत हीरो के हाथ होता है लेकिन इस विलेन को किसी एक्शन हीरो ने नहीं बल्कि रेट ओबेरॉय ने मारा था अब तो आप जान गए होंगे कि आखिरकार यह विलेन कौन है?

इस विलन का नाम है लज्जा शंकर इस नाम को सुनकर आपको उनकी डरावनी शक्ल तो जरूर याद आ गई होगी जो आदमी ललचातक साड़ी में नजर आता है। आंखों में खून उतरा हुआ होता है गोल बिंदी लगता है, नाक में नथनी पहना है इस तरह लुक में नजर आए थे आशुतोष राणा और अपना खून से सना हुआ मुंह खोलकर जब वह चिल्लाते हैं तो हर किसी के रोंगटे खड़े हो जाते हैं। इस खतरनाक गेटअप में आशुतोष राणा फिल्म संघर्ष में दिखाई दिए थे जिसमें उनका मुकाबला रीत ओबेरॉय करती हैं। इस किरदार में प्रीति जिंटा नजर आई थी जो अपने डर पर काबू पाने के लिए लज्जा शंकर बने आशुतोष राणा को ललकारती है और उनका अंत भी कर देती हैं।

See also  Poonam pandey News : कभी अपने पति पर लगाया था मारपीट का आरोप, नहीं हुआ अभी तक तलाक, नशा से किया था बॉलीवुड डेब्यू

इस फिल्म की कहानी बच्चों के गायब होने से जुड़ी हुई है इस में जैसे-जैसे प्रीति जिंटा को पता चलता है कि बच्चों को जादू टोने के लिए बलि चढ़ाया जा रहा है जिसमें आशुतोष राणा का हाथ होता है। सीबीआई अफसर बनी प्रीति जिंटा बच्चों को बचाने में लग जाती है और उनके साथ अक्षय कुमार देते हैं। आशुतोष राणा ऐसे साइको किलर बने हुए हैं जिन्हें यह यकीन होता है की बलि देने से वह अमर हो जाएंगे।प्रीति जिंटा और अक्षय कुमार मिलकर उनसे टकराते हैं और उनका अंत करते हैं।

संघर्ष का निर्देशन तनूजा चंद्रा ने किया था और फिल्म में प्रीति जिंटा के साथ अक्षय कुमार और आशुतोष राणा नजर आए थे. फिल्म 3 सितंबर 1999 को रिलीज हुई थी. फिल्म का बजट लगभग चार करोड़ रुपये था जबकि इसने बॉक्स ऑफिस पर लगभग 10 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया था. इस फिल्म को खूब पसंद किया गया था.