Uncategorized

Bihar Politics : बिहार में कांग्रेस के कई विधायकों का फोन बंद, नीतीश कुमार का दे सकते हैं साथ

बिहार में जारी सियासी गहमागहमी के बीच कांग्रेस के लिए परेशान करने वाली जानकारी सामने आ रही है। सूत्रों से मिल रही खबर के अनुसार कांग्रेस के कुछ विधायकों के फोन लगातार स्विच ऑफ आ रहे हैं। उनके बारे में कहा जा रहा है कि वह किसी भी पल नीतीश कुमार की पार्टी जदयू का दामन थाम सकते हैं।

बिहार के सीएम एवं जनता दल के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने अपना रूख एक बार फिर बदल कर भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राज्य में वापसी के स्पष्ट संकेत दे दिए हैं। वह कभी भी इस्तीफा दे सकते हैं और भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर नई सरकार बना सकते हैं।

See also  Loksabha Election 2024 : लोकसभा चुनाव में करारी हार पाने के बाद मायावती हुई मुस्‍ल‍िम समाज से नाराज हुईं, कह दी इतनी बड़ी बात कि अब…

आज से कल तक बिहार के तमाम सीआसी दलों की बैठक होने वाली है। इससे पहले भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सांसद और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा था की राजनीति में “दरवाजे कभी भी स्थाई रूप से बंद नहीं होते हैं।”

राज्य में राजनीतिक अनिश्चितता को लेकर जारी अटकलें को उस समय और बल मिला जब नीतीश कुमार ने गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) के मौके पर यहां राज भवन में आयोजित जलपान समारोह में भाग लिया। पर उपमुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल नेता तेजस्वी यादव इस समारोह में शामिल नहीं हुए। राजभवन में आयोजित समारोह के दौरान सीएम को बीजेपी के वरिष्ठ नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा सहित अन्य आगंतुकों के साथ अभिवादन करते नजर आए।

See also  Grammy Awards 2024 : इन पांच भारतीय संगीतकारों पर हुई ग्रैमी अवॉर्ड की बारिश, प्रधानमंत्री मोदी ने दी बधाई
Bihar Politics
बिहार में कांग्रेस के कई विधायकों का फोन बंद

समारोह से बाहर निकलते हुए सीएम नीतीश कुमार ने संवाददाताओं से कहा कि यह यादव और विधानसभा अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी सहित राजद के अन्य नेताओं का काम है कि वह इस पर टिप्पणी करें कि वह तेजस्वी यादव एवं पार्टी के अन्य नेता समारोह में क्यों नहीं आए। राजद की तरफ से राज्य के शिक्षा मंत्री आलोक मेहता उपस्थित थे। वही, आज बक्सर में नीतीश कुमार का सरकारी कार्यक्रम था ,जिसमें उनके साथ भाजपा के दिग्गज नेता और केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे भी दिखाई दिए।