क्रिकेटभारत की खबरें

जानिए कौन है इंडियन क्रिकेट के हीरो ध्रुव जुरेल? पिता थे कारगिल युद्ध के हीरो, जानिए पूरी कहानी

उत्तर प्रदेश के आगरा में जन्मे ध्रुव बचपन से ही क्रिकेट खेलने के लिए बेचैन रहते थे। उनके पिता नेम सिंह उन्हें देश की सेवा करते देखना चाहते थे। इनके पिता कभी भी ने क्रिकेटर के रूप में नहीं देखना चाहते थे। इनके पिता कारगिल युद्ध में लड़े भी थे। इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट में नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे ध्रुव नाम भारत की पहली पारी में 90 रन बनाएं इससे पहले राजकोट टेस्ट में उन्होंने 46 रन की शानदार पारी खेली थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, डेब्यू सीरीज में ध्रुव के दमदार प्रदर्शन से टीम मैनेजमेंट काफी खुश है। 2001 में ध्रुव का जन्म हुआ। छोटी उम्र से ही वह क्रिकेटर बनना चाहते थे, लेकिन पिता से वह डरते थे।

ध्रुव ने आर्मी स्कूल में पढ़ने के दौरान तैराकी सीखी लेकिन उन्हें क्रिकेट में काफी रुचि थी ध्रुव बचपन में क्रिकेट खेला करते थे लेकिन जब उनके पिता को इस बारे में पता चला तो वह काफी गुस्सा हुए। इसके बाद ध्रुव को खेलने के लिए बैट चाहिए था, तो उनके पिता ने बल्ला लाने के लिए अपने दोस्तों से 800 रुपये कर्ज लिए थे।

See also  ऊप्स मोमेंट का शिकार होने से बाल-बाल बचीं Janhvi Kapoor, वर्कआउट करते हुए सामने आया फनी वीडियो

ध्रुव उत्तर प्रदेश के लिए अंडर-14 और अंडर-16 आयु वर्ग क्रिकेट खेल चुके हैं। इसके बाद उन्हें 2020 में विश्व कप के लिए भारत की अंडर -19 टीम के लिए चुना गया। करियर की शुरुआत में ध्रुव ऑफ स्पिन गेंदबाजी करते थे, लेकिन उनकी गेंदबाजी कुछ खास नहीं थी।

ध्रुव ने 2022 में विदर्भ के खिलाफ उत्तर प्रदेश के लिए रणजी ट्रॉफी में पदार्पण किया और अब तक उन्होंने 15 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं, जिसमें 790 रन बनाए हैं, जिसमें एक शतक और पांच अर्धशतक शामिल हैं। उनका बेस्ट स्कोर 249 रन है। ध्रुव ने 10 लिस्ट-ए और 23 टी-20 मैच भी खेले हैं।

See also  Mohammed Shami : IPL से पहले फैंस को लगा झटका, दिग्गज मोहम्मद शमी पूरे सीजन से हुए बाहर

उन्हें आईपीएल 2022 के मेगा ऑक्शन में राजस्थान रॉयल्स (आरआर) ने 20 लाख रुपये में अपनी टीम में शामिल किया था। हालांकि, उन्हें पहला मौका आईपीएल 2023 में मिला। आईपीएल में ध्रुव ने 5 अप्रैल 2023 को गुवाहाटी में पंजाब किंग्स के खिलाफ बतौर इम्पैक्ट प्लेयर डेब्यू किया। अपने पहले ही मैच में उन्होंने 15 गेंद पर 32 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली।

ध्रुव धोनी की तरह भारतीय टीम की कप्तानी भी करना चाहते हैं। इस साल आईपीएल में अपनी प्रतिभा दिखाने के बाद अब उनके पास देश को भी अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका है। रोहित और विराट सरीखे दिग्गज बल्लेबाजों की देखरेख में 22 साल के ध्रुव के पास अपनी प्रतिभा को निखारने के लिए अभी काफी समय भी है।