Uncategorized

Gyanvapi Case : ज्ञानवापी परिसर मामले में नाराज मुस्लिम पक्ष ने आज वाराणसी में कारोबार बंद रखने का किया ऐलान

ज्ञानवापी के दक्षिणी भाग में स्थित व्यास जी के तहखाना में कोर्ट के आदेश पर पूजा से मुस्लिम पक्ष में आक्रोश है। इसे लेकर मुस्लिम पक्ष की तरफ से जुम्मा यानी शुक्रवार को वाराणसी बंद का ऐलान कर दिया है। इस दौरान सभी मस्जिदों में दुआ खानी भी होगी। ज्ञानवापी मस्जिद के इमाम और मुफ्ती- ए- बनारस अब्दुल बातिन नोमानी ने बताया कि अपनी नाराजगी जाहिर करने के लिए मुस्लिम पक्ष शुक्रवार को अपना कारोबार बंद रखेंगे।

यह बंदी पूरी तरह शांतिपूर्ण होगी। बातीन ने वहां पूजा पाठ का अधिकार मांगने वाले व्यास जी के परिवार के दावे पर भी सवाल उठाया। बातिन ने कहा कि साल 1993 से पहले वहां पूजा पाठ होने की बात गलत है। बातिन ने इसके साथ ही लोगों से किसी भी तरह का अफवाह पर ध्यान नहीं देने की अपील की है।

See also  Weekly Rashifal : नई नौकरी के लिए इंतजार होगा खत्‍म, इनकम भी बढ़ेगी
Gyanvapi Case
ज्ञानवापी परिसर मामले में नाराज मुस्लिम पक्ष ने आज वाराणसी में कारोबार बंद रखने का किया ऐलान

अंजुमन इंतिजामिया मस्जिद के महासचिव एवं जामे मस्जिद ज्ञानवापी के इमाम बातीन ने बताया कि जामे मस्जिद ज्ञानवापी बनारस के दक्षिणी तहखाना में हिंदू फरीक को पूजा पाठ की अनुमति से मुसलमान पक्ष काफी नाराज है। इस फैसले के विरोध में मुसलमान आज जुम्मा के दिन शांतिपूर्ण रूप से अपना कारोबार बंद रखकर जुम्मा की नमाज से असर की नमाज तक दुआ खानी करेंगे।

बातीन ने बताया कि मुस्लिम पक्ष को व्यास परिवार के दावे पर भी घोर आपत्ति है। जिसमें हिंदू पक्ष और मीडिया द्वारा यह बात फैलाई गई है कि साल 1993 तक मस्जिद के दक्षिणी तहखाना में पूजा पाठ होती चली आई है। कहा गया है कि यह दावा सरासर बेबुनियाद और गलत है। वहां कभी कोई पूजा पाठ हुई ही नहीं।

See also  Ayodhya Ke Ram : अयोध्या में राम ने कितने साल किया था शासन

बुधवार को वाराणसी की जिला जज की अदालत में ज्ञानवापी के दक्षिणी हिस्से में स्थित व्यास जी के तहखाना में पूजा की इजाजत दे दी थी। इसके बाद रात में ही डीएम ने यहां व्यवस्था बनाई और सुबह में पूजा भी शूरु हो गई। गुरुवार की शाम से आम लोगों का दर्शन भी यहां शुरू हो गया है।

बातिन ने कहा कि जिला जज के फैसले के खिलाफ मुस्लिम समाज ने हाई कोर्ट में अर्जी दाखिल की है। मौलाना अब्दुल बातिन नोमानी ने सभी से शहर में अमन एवं शांति बनाए रखने की अपील करते हुए कहा है कि वह मस्जिदों में दुआ खानी करे। किसी भी प्रकार के अफवाह पर ध्यान ना दें। और बिलावजा इधर-उधर ना जाए।