अजब-गजबताज़ा खबरें

Rajasthan News : ससुर ने अपनी बहू के लिए दिखाई दरियादिलि, नेग में दी लग्जरी कार, सवा रुपए और नारियल

राजस्थान में रहने वाले और असम प्रवासी रामस्वरूप ढाका ने अपने पुत्र के विवाह में दहेज न लेकर सभी के लिए एक मिसाल पेश की है। साथ ही बहू को नेग में 16 लाख रुपए कह लग्जरी कार भी भेंट की।

दरअसल ढाका के पुत्र विकास का विवाह कटराथल निवासी सुभाष गढ़वाल की पुत्री निकिता के साथ संपन्न हुआ।सीकर/लक्ष्मणगढ़। क्षेत्र के अलखपुरा बोगण गांव के निवासी तथा असम प्रवासी रामस्वरूप ढाका ने अपने पुत्र के विवाह में दहेज न लेकर मिसाल पेश की, साथ ही बहू को नेग में लग्जरी कार भी भेंट की।

See also  Snakes Big Fears : जाने किन चीजों से डरते हैं सांप, किचन में मौजूद है यह आठ चीजे जिनके पास नहीं फटकते हैं सांप

ढाका ने अपने पुत्र के विवाह में लड़की पक्ष से किसी तरह का कोई भी दहेज नहीं लिया और सवा रुपए नारियल लेकर शादी की और इस तरह उन्होंने समाज में सभी के सामने अपना एक आदर्श प्रस्तुत किया।इसके अलावा ढाका ने शादी के बाद आयोजित किए जाने वाली परंपरा पग पकड़ाई में अपनी पुत्रवधू को आशीर्वाद दिया और इसी समय उन्होंने उसे आशीर्वाद स्वरुप करीब 16 लाख रुपए की लग्जरी कर भी भेंट की।

विवाह समारोह में बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि व प्रबुद्ध जन भी शामिल हुए थे।इधर शेखावाटी रंगरेजान सम्मेलन समिति की बैठक खंडेलवाल कॉलेज शास्त्री नगर जयपुर में इस्माइल सोलंकी सीकर की अध्यक्षता में हुई। इसमें समाज सुधार के कई मुद्दों पर चर्चा कर कई अधिक निर्णय भी लिए गए समिति के प्रवक्ता सीटीआई अनवर हुसैन ने बताया कि 9 नवंबर को ₹1 में करीब 40 50 जोड़ों का सामूहिक विवाह सम्मेलन होगा।

See also  कपल ने खरीदा 1850 का घर, फर्श के नीचे छुपा था बड़ा राज, लकड़ी हटाते ही दिखा 'दूसरी दुनिया' का रास्ता !

इस दौरान सर्वसम्मति से सम्मेलन का अध्यक्ष हाजी अय्यूब महरोली को चुना गया। समिति के सचिव मोहम्मद फारुक लोधी ने बताया कि बैठक में हबीब, हाजी गयासुद्दीन व तारा हुसैन ने कहा कि समिति के जिम्मेदार खुद भी अपने बच्चों का विवाह इस सम्मेलन में कराएं। साथ ही ज्यादा से ज्यादा जोड़ों का पंजीयन कराया जाए। इसमें अमीर-गरीब का फर्क नहीं हो और सभी शामिल हो।