Uncategorized

Ayodhya Shabari Rasoi : अयोध्या में यह कैसा राम राज्य, 55 रुपए की चाय और ₹65 का टोस्ट, शबरी रसोई के नाम पर चल रही है लूट

अयोध्या में शबरी रसोई के नाम पर चल रही है लूट ₹55 की चाय और 65 रुपए के टोस्ट का बिल सामने आया और खूब वायरल हुआ। लोगों ने कहा कि माता शबरी के नाम पर रेस्टोरेंट और इतनी लूट। बिल सोशल मीडिया पर सर्कुलेट होने लगा तो अयोध्या विकास प्राधिकरण भी हरकत में आ गया। शबरी रसोई को नोटिस भेजकर स्पष्टीकरण मांगा गया। अब रेस्टोरेंट की तरफ से सफाई आई है कि यह रेस्टोरेंट श्री राम जन्म भूमि मंदिर के मुख्य द्वार यानी जन्मभूमि पथ से 300 मीटर की दूरी पर अरुंधति मल्टी लेयर पार्किंग बिल्डिंग में चौथी इमारत पर स्थित है।

जिसका कॉन्ट्रैक्ट गुजरात के कवच फैसिलिटी मैनेजमेंट को दिया गया है। अयोध्या की टेढ़ी बाजार चौराहे पर मल्टी लेवल पार्किंग में गुजरात के व्यापारी ने एक रेस्टोरेंट खोला है। जिसका नाम शबरी रसोई रखा गया है।22 जनवरी को कुछ वीआईपी इस रेस्टोरेंट में आते हैं और एक चाय पीते हैं और टोस्ट भी खाते हैं। जिसके बाद शबरी रसोई के वेटर उनको बिल देता है और बिल में ₹55 की चाय और 65 रुपए का टोस्ट का दाम लिखा रहता है। इसके बाद वह चाय और टोस्ट का बिल भी तेजी के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। लोग इस बिल पर तरह-तरह के कमेंट करने लगे। किसी ने कहा अयोध्या में राम नाम के लूट है तो किसी ने कहा कि यह अयोध्या आने वाले राम भक्तों के साथ छल किया जा रहा है।

See also  Ram Lalla Idol : क्या आपको पता है कि रामलला की बनने वाली मूर्ति की शिला कहां और कैसे मिली, ट्रस्ट ने बताई यह बात
Ayodhya Shabari Rasoi
अयोध्या में यह कैसा राम राज्य, 55 रुपए की चाय और ₹65 का टोस्ट

नोटिस के बाद शबरी रसोई के मैनेजमेंट की तरफ से कहा गया कि उसने तो केवल 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के चलते विशिष्ट लोगों के लिए ही शबरी रसोई शुरू की थी। इसका उद्घाटन अभी नहीं हुआ है 15 फरवरी तक उद्घाटन होगा। और जो कुछ हुआ है वह स्टाफ के गलती के कारण हुआ है। उसके लिए माफी मांगते हैं। और शबरी रसोई के मेनू कार्ड की रेट लिस्ट के संशोधन पर विचार चल रहा है। जब उद्घाटन के बाद शबरी रसोई शुरू होगी तो रेट में परिवर्तन आ जाएगा।

एक रिपोर्ट के अनुसार, इस वायरल बिल पर शबरी रसोई के मैनेजर ने कहा शबरी रसोई के मैनेजर ने कहा कि अभी आम पब्लिक के लिए शबरी रसोई रेस्टोरेंट चालू नहीं हुआ है लेकिन जब मैनेजर से सवाल किया गया कि आपका एक बिल तेजी के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है तो मैनेजर ने कहा कि 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा में शामिल होने के लिए कुछ वीआईपी आए थे। जिन्होंने चाय और टोस्ट की डिमांड की थी। इसके बाद उन लोगों को हमारे वेटर ने गलती से बिल दे दिया और उन लोगों ने इस बिल को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। इसके बाद प्रोपेगंडा फैलाया गया। अब सवाल उठता है कि गलती क्या थी। वीआईपी लोगों को बिल देना या प्रिंटेड बिल देना जिसमें चाय की कीमत ₹55 थी।

See also  Ramlala Pran Pratishtha : रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के दौरान महिला ने दिया बालक को जन्म, पिता ने कहीं यह बात – अनमोल तोहफा प्रभु श्री राम दिया है

मैनेजर ने दावा करते हुए कहा कि प्रोपेगेंडा उन्हीं लोगों ने फैलाया है। अब इसके बाद चारों तरफ शबरी रसोई की चर्चा होने लगी है। मैनेजर ने कहा मान लीजिए अगर हमारे यहां ₹55 का चाय और ₹65 का टोस्ट है। तो इसकी कीमत बहुत ज्यादा नहीं है। इसके साथ ही हम कई अन्य सुविधाएं भी शबरी रसोई में दे रहे हैं। यानी कि अगर आप शबरी रसोई में ₹55 का चाय पीने जाते हैं तो आपके यहां वाईफाई की सुविधा के साथ आप वहां एक से दो घंटे समय भी बिता सकते हैं।

लोगों ने कहा कि विरोधी इस बात का नहीं था कि चाय के दाम ₹55 लिया जा रहा है विरोध इस बात था कि शबरी को सेवा और त्याग के रूप में जाना जाता है शबरी रसोई के नाम पर₹55 की चाय और ₹65 का टोस्ट बेचे जाने पर करें विरोध के स्वर पूरे अयोध्या में उभरे। लोगों ने यह इल्जाम लगाया कि शबरी रसोई का प्रबंध तंत्र अयोध्या की छवि को खराब कर रहा है।