ताज़ा खबरें

यूट्यूब से सीखा नकली नोट छापने का तरीका और फिर प्रिंट की ऐसी करेंसी की पुलिस भी रह गई हैरान

Fake Currency Racket: पुलिस को जब यह पता चला है की गैंग कई दिनों से इलाके में सक्रिय है इसके बाद पुलिस ने उस जगह पर रेड डाली।

बताया जा रहा है कि पुलिस की रेड में 483000 में से 50,100, 200, 500 के जाली नोट बरामद किए गए। यह गैंग करीब 4 महीने से नकली नोट बनाने का धंधा कर रहा था आज के जमाने में यूट्यूब एक ऐसा प्लेटफॉर्म बन गया है जिसे देखकर हर कोई कुछ भी करने की कोशिश करने लगता है बिहार में भी एक ऐसा मामला सामने आ रहा है जिसमें यूट्यूब का सहारा लेकर कुछ लोग क्राइम करने लगे . मामला गया से जुड़ा है जहां पुलिस ने नकली नोट छापने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है. ये गैंग यू-ट्यूब से तरकीब जानने के बाद फटाफट नकली नोट छाप रहा था जिसका पुलिस ने खुलासा कर लिया है.

See also  बिछिया उतारने को कहा तो छोड़ा एग्जाम, विवाहिता ने अपने सुहाग की निशानी के खातिर अपने करियर को ठुकरा दिया

पुलिस ने इस दौरान गैंग के दो अपराधियों को गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने नकली नोट छापने वाले गिरोह का भंडाफोड़ कर दिया। यह मामला चेरकी थाना क्षेत्र के कुरवांमा गांव में है जहां नकली नोट छापने का खेल चल रहा था. पुलिस ने छापेमारी में चार लाख 83000 के नकली नोट बरामद किए नकली नोट छापने वाले कई उपकरण भी बरामद किए गए। इस काम में शामिल रहे दो अपराधियों को भी गिरफ्तार किया गया है

गया के एसएसपी आशीष भारती ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर एक युवक को हिरासत में लिया गया था जिसकी निशानदेही पर यह कार्रवाई की गई है. बताया जा रहा है नकली रुपए यह गैंग खुद खर्च करता था फिलहाल इसके आगे की पूछताछ अभी अपराधियों से चल रही है एसपी ने बताया कि लगातार अपराधियों गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है. उन्होंने बताया कि बरामद 4 लाख 83 हजार में से 50, 100, 200 और 500 के जाली नोट शामिल हैं. ये गैंग करीब 4 माह से नकली नोट बनाने का धंधा कर रहा था.

See also  CM Arvind Kejriwal statement : "तुम जितने समन भेजोगे हम उतने स्कूल बनायेंगे"

रिपोर्ट के मुताबिक यह गिरोह हो यूट्यूब से वीडियो देखकर जाली नोट बनाना सीखा था और अब तक ₹500000 के जाली नोट बन चुके थे जिसमें 25000 बाजार में लगा चुका था। देखने में यह नोट काफी निम्न क्वालिटी के हैं। पुलिस ने नकली नोट छापने में उपयोग में ले जा रहे हैं प्रिंटर, कटर मशीन और उपकरण भी बरामद कर दिया। आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए भी लाखों रुपए के नकली नोट छाप रहे थे, इस एंगल से भी पुलिस जांच पड़ताल कर रही है.

गिरफ्तार व्यक्तियों से पूछताछ की जा रही है और इसके आगे और पीछे के लोग की जानकारी ली जा रही है. पकड़े गए लोगों में से कुरवामा गांव के वीरेंद्र कुमार और टनकुप्पा थाना क्षेत्र के रहने वाले अनुज कुमार के रूप में पहचान हुई है.