टीवी शो & सीरियलधार्मिक

Mahabharata Dronacharya : महाभारत में द्रोणाचार्य का रोल मिलने पर भड़क उठे थे एक्टर, बाद में आंखों से निकले आंसू

महाभारत से पॉपुलर हुए सुरेंद्र पाल ने शुरुआत में गुरु द्रोणाचार्य का रोल मना कर दिया था। वह बूढ़े शख्स का रोल नहीं प्ले करना चाहते थे, जब बी आर चोपड़ा को उनकी इस सोच के बारे में पता चला तो उन्होंने एक्टर को खूब खरी खोटी सुनाई, जिसकी वजह से सुरेंद्र मेकर्स के सामने रो पड़े। जाने पूरा मामला

एक्टिंग एक ऐसी फील्ड है जहां कई बार ऐसा होता है कि कोई आर्टिस्ट पहले किसी एक पार्टिकुलर रोल को करना नहीं चाहता फिर बाद में वह किरदार उसी की पहचान बन जाता है।बी आर चोपड़ा की महाभारत में गुरु द्रोणाचार्य के रोल में सुरेंद्र पाल दिखे थे। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि वह पहले द्रोणाचार्य का रोल नहीं करना चाहते थे क्योंकि वह स्क्रीन पर हीरो दिखाना चाहते थे।

See also  Ramanand Sagar Ramayan Actor : रामानंद सागर की रामायण में काम करने वाले वह मुस्लिम एक्टर जिन्होंने निभाए 11 से भी ज्यादा किरदार, अब है यह हाल

बताया जा रहा है कि सुरेंद्र पाल ने शुरुआत में गुरु द्रोणाचार्य का रोल मना कर दिया था।वह बूढ़े शख्स का रोल नहीं निभाना चाहते थे लेकिन जब बीआर चोपड़ा को उनकी सोच के बारे में पता चला तो उन्होंने एक्टर को खूब सुनाया जिसकी वजह से सुरेंद्र मार्क्स के सामने रो पड़े थे अपने इंटरव्यू में सुरेंद्र ने कहा गूफी पेंटल ने मुझे फोन पर कहा आपके लिए मेरे पास रोल है सेट पर पहुंचने के बाद उन्होंने बताया कि कास्टिंग हो चुकी है लेकिन महाभारत में द्रोणाचार्य का रोल की कास्टिंग अभी चल रही है। मैं द्रोणाचार्य का नाम सुनने के बाद उनसे नाराज हो गया। मैंने कहा बूढ़े का रोल मुझे दिया जा रहा है. मैं यहां हीरो बनने आया हूं. मैं हैंडसम हूं. मुझे लगा था मेरा करियर शुरू होने से पहले खत्म हो जाएगा.

See also  Actor Nitish Bharadwaj : नीतीश भारद्वाज हुए IAS पत्नी से परेशान, मांगी मदद, 'श्रीकृष्ण' के घर शुरू हुआ 'महाभारत'

मैंने गूफी पेंटल को साफ कहा कि मैं बूढ़े आदमी का रोल नहीं निभा सकता। यह कहकर मैं सेट से चला गया था जैसे मैं सेट से जाने लगा एक आदमी मेरे पास भागते हुए आया और कहा कि बी आर चोपड़ा ने मुझे ऑफिस में बुलाया है। उस मुलाकात के दौरान बीआर चोपड़ा ने मुझे पहली लाइन ये कही थी- मुझे मेरा द्रोणाचार्य मिल गया है. वो जो कह रहे थे मुझे अच्छा नहीं लगा.

मैंने उन्हें कहा सर मैं आपको कुछ बताना चाहता हूं मैं बूढ़े आदमी का रोल नहीं कर सकता। मेरी बात सुनकर बी आर चोपड़ा गुस्सा करने लगे फिर वह बोले तुमने क्या कहा द्रोणाचार्य एक बूढ़ा इंसान था। वह एक सेना का जनरल था. वो 10 अर्जुन और 10 दुर्योधन बना सकता था. बीआर चोपड़ा काफी देर तक मुझ पर चिल्लाते रहे. उनकी बातें सुनकर मैं वहां रोने लगा.
गुरु द्रोणाचार्य की अहमियत जाने के बाद बी आर चोपड़ा ने मुझसे कहा मैं टाइगर जैसा लुक चाहता हूं और मैं अपने सामने एक टाइगर देख रहा हूं तुम्हारे अलावा इस रोल को कोई और नहीं कर सकता. बीआर चोपड़ा की बातें सुनने के बाद सुरेंद्र ये रोल करने के लिए राजी हुए. बिना ऑडिशन और लुक टेस्ट के वो रोल के लिए सलेक्ट हुए. सुरेंद्र ने द्रोणाचार्य के रोल में उम्दा काम किया. इस रोल ने उन्हें फेम दिलाया.