अजब-गजबविडियोज़

Bihar News : एक गांव ऐसा जहां सब है कुंवारे शादी की उम्मीद में हो गए लोग बूढ़े, करवाई पूजा पाठ लेकिन सब हो गया फेल

बिहार में एक ऐसा गांव है जिसे कुंवारों का गांव कहते हैं. इस गांव में रहने वाले ज्यादातर मर्द शादी की उम्मीद में ही बूढ़े हो चुके हैं अब सवाल यह उठता है कि आखिरकार इस गांव में कोई लड़की शादी क्यों नहीं करना चाहती है? और यहां पर लोगों की शादी क्यों नहीं हो रही है ?

दुनिया में कई ऐसी जगह है जो अपनी अजीबोगरीब खूबी के लिए मशहूर हैं कहीं का खाना मशहूर है तो कोई गांव मशहूर है जहां केवल जुड़वा बच्चे पैदा होते हैं। इसी तरह बिहार का एक गांव है जिसकी मजेदार बात यह है कि इस गांव को कुमारो का गांव कहा जाता है।ऐसा नहीं है कि गांव में मर्दों को शादी करने की मनाही है।उनकी शादी न होने की खास वजह है।

हम बात कर रहे हैं बिहार की राजधानी पटना से करीब तीन सौ किलोमीटर दूर स्थित बरवां कलां नाम के गांव की. इस गांव को कुंवारों का गांव भी कहा जाता है. इसके पीछे की खास वजह यह है कि गांव में पिछले 50 साल से शादियां नहीं हुई है किसी तरह से 2017 में यहां एक बार शहनाई बजी थी लेकिन उसके बाद यह सिलसिला फिर थम गया। आखिर ऐसा क्या है यहां जो लड़कों को ऐसी जिंदगी गुजारनी पड़ रही है ?

See also  Anupamaa Promo : ये क्या रिश्तों को बचाने वाली अनुपमा उड़ाएगी शाह परिवार की धज्जियां, आ गया  नया प्रोमो... 

अगर आपको ऐसा लग रहा है कि यह जगह श्रापित है तो ऐसा कुछ भी नहीं है ऐसा भी नहीं है कि इस जगह पर रहने वाले मर्दों पर किसी ने जादू टोना किया है। दरअसल इस गांव के लोगों की शादी न होने की वजह है प्रशासनिक लापरवाही यह गांव आज की मूलभूत जरूरत से काफी अछूता है।

इस गांव में बिजली नहीं है। पीने के लिए पानी की सप्लाई भी नहीं है। यहां तक की इस गांव में सड़क भी नहीं है . इस वजह से कोई भी परिवार अपनी बेटी को इस गांव में नहीं भेजता है. इस गांव में आपका मोबाइल भी बेकार हो जाएगा क्यूंकि यहां नेटवर्क नहीं आता.

See also  दूल्हे की कटी उंगलियां देख दुल्हन ने शादी से किया इनकार, मामला बिगड़ने पर बुलानी पड़ी पुलिस

इस गांव के रहने वाले लोगों ने कई बार सरकारी अधिकारियों से इस बारे में मदद भी मांगी लेकिन ऐसा लगता है जैसे उनकी समस्या से किसी को कोई लेना देना नहीं है।
कुछ साल पहले गांव वालों ने खुद ही मिलकर पहाड़ काटकर एक कच्ची सड़क बनाई थी जिसकी मदद से गाड़ियां अब गांव तक आने लगी है।यहां के युवा गांव में रहना नहीं चाहते हैं।

कई लोग अपनी शादी के लिए यज्ञ और हवन भी करवाते हैं लेकिन सब बर्बाद हो जाता है अब देखना है कि आखिर कबतक इस गांव में लोग कुंवारे ही अपनी जिंदगी काटने को मजबूर रहेंगे.