Uncategorized

BJP Feeds Honey To Mamata Banerjee Video : PM मोदी के खिलाफ विवादित टिप्पणी के बाद BJP ने ममता बनर्जी की फोटो को पिलाया शहद

पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ बंगाल के सीएम ममता बनर्जी की विवादित टिप्पणी के प्रति विरोध जताने के लिए भारतीय जनता पार्टी समर्थकों ने नया तरीका उपयोग किया और टीएमसी प्रमुख की फोटो को सांकेतिक रूप से शहद पिलाया, ताकि उनकी भाषा मीठी हो जाए।

रविवार को कोलकाता में भारतीय जनता पार्टी की युवा शाखा द्वारा निकाली गई एक रैली के दौरान भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं ने बताया कि वह बांग्ला भाषा की समृद्धि की याद दिलाने के लिए 19वीं सदी के विद्वान ईश्वर चंद्र विद्यासागर द्वारा लिखित एक लोकप्रिय किताब ’बर्णपरिचय’ की प्रतियां भी ले गए थे।

See also  Ramlala Vahans from USA : रामलला के लिए अमेरिका से आए सोने से बने 12 वाहन, जानें इसकी खासियत
BJP Feeds Honey To Mamata Banerjee Video
PM मोदी के खिलाफ विवादित टिप्पणी के बाद BJP ने ममता बनर्जी की फोटो को पिलाया शहद

सीएम ममता बनर्जी ने बंगाल के लिए मनरेगा की बकाया धनराशि जारी करने की मांग को लेकर पिछले दिनों धरने के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कथित तौर पर आपत्तिजनक शब्द का उपयोग किया था।

भारतीय जनता पार्टी के युवा नेता इंद्रनील खान ने मीडिया से कहा कि सीएम ममता बनर्जी ने जिस तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी जैसे सम्मानित नेता के बारे में बात की है, हम उसकी निंदा करते हैं। यह बंगाल की संस्कृति और हमारी विरासत के खिलाफ है। यह विद्यासागर जैसे दिग्गजों के आदर्शों के भी खिलाफ है, जिन्होंने बंगालियों को समृद्ध भाषा से परिचित कराने के लिए ‘बर्णपरिचय’ प्रस्तुत किया था। हम एक प्रतीकात्मक कदम के रूप में सीएम की तस्वीर को सहद पिला रहे हैं।

See also  75th Republic Day : इमैनुएल मैक्रो के सम्मान में राजकीय भोज, परोसे गए ऐसे डिश जिसका नाम तक नहीं सुना होगा, देखिए पूरा मेन्यू

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए टीएमसी प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा कि ममता बनर्जी ने हमेशा अपने राजनीतिक प्रतिद्वंदियों के प्रति सम्मानजनक रुख अपनाया है, लेकिन सुवेंदु अधिकारी जैसे भारतीय जनता पार्टी नेता उन्हें चोर कहते हैं और कांग्रेस जैसे अन्य गैर भारतीय जनता पार्टी दलों के राष्ट्रीय नेताओं के बारे में अपमानजनक भाषा का उपयोग करते हैं। भारतीय जनता पार्टी के लिए आत्म निरीक्षण की जरूरत है। कुणाल घोष ने कहा कि पहले उन्हे ऐसी अभिव्यक्तियों के लिए माफी मांगने दीजिए।’